This article was added by the user Anna. TheWorldNews is not responsible for the content of the platform.

ब्राजील: कोरोना कुप्रबंधन की जांच में फंसे राष्ट्रपति बोल्सोनारो, 11 तरह के आपराधिक मामलों में बन सकते हैं आरोपी

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, रियो डे जेनेरियो Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव

सार

सीनेटर का कहना है कि राष्ट्रपति पर नरसंहार, सार्वजनिक धन के अनियमित उपयोग, स्वच्छता उपायों के उल्लंघन, अपराध को बढ़ावा देने और जालसाजी का आरोप लगाया जाना चाहिए। 

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो (फाइल फोटो)

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो (फाइल फोटो) - फोटो : Facebook

ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना के दौरान ब्राजील में हुईं छह लाख मौतों और कुप्रबंधन की जांच में ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो ही फंसते नजर आ रहे हैं। सीनेट इस संबंध में अपनी जांच रिपोर्ट अगले सप्ताह पेश करने वाली है। माना जा रहा है कि अपनी रिपोर्ट में सीनेट राष्ट्रपति को 11 तरह के आपराधिक मामलों में आरोपी बनाने की सिफारिश करेगी। 

नरसंहार से लेकर कोरोना के खिलाफ भ्रम फैलाने का आरोप 


एक रेडियो इंटरव्यू के दौरान सीनेटर रेनान कैलहेरोसा ने कहा कि अप्रैल में शुरू हुई जांच के दौरान कई सबूत इकट्ठे किए गए हैं। इन सबूतों के आधार पर राष्ट्रपति को नरसंहार, सार्वजनिक धन के अनियमित उपयोग, स्वच्छता उपायों के उल्लंघन, अपराध को बढ़ावा देने और जालसाजी के मामलों में आरोपी बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान राष्ट्रपति ने लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन किया, किसी प्रमाण के बिना ही कोरोना के इलाज को मान्यता दी और टीकाकरण पर लोगों के मन में संदेह पैदा किया। इससे कोविड-19 के खिलाफ लोगों की गंभीरता कम हुई। 

मंगलवार को पेश होगी रिपोर्ट 


कोरोना पर चल रही जांच की यह रिपोर्ट मंगलवार को पेश की जाएगी। इसके बाद इस रिपोर्ट को अटॉर्नी जनरल के पास भेजा जाएगा और राष्ट्रपति व अन्य लोगों को आरोपी ठहराने के लिए मतदान भी कराए जांएगे। कैलहेरोस ने यह भी कहा कि रिपोर्ट में यह भी सिफारिश की जा सकती है कि राष्ट्रपति के अलावा उनके बेटों और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री पर भी आरोप लगाए जाएं। ब्राजील में कोरोना के दौरान छह लाख मौतों से राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो की लोकप्रियता घटी है। अमेरिका के बाद ब्राजील दूसरा देश है, जहां पर इतनी ज्यादा मौते हुई हैं।