India

Chandra Grahan 2020 Live Updates: थोड़ी ही देर बाद शुरू होगा चंद्र ग्रहण, जानिए कैसे, कब और कहां दिखाई देगा यह ग्रहण

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

खास बातें

Chandra Grahan 2020: बस अब थोड़ी ही देर के बाद साल का तीसरा चंद्र ग्रहण शुरू हो जाएगा।आज गुरु पूर्णिमा भी है और चंद्र ग्रहण भी। यह चंद्र ग्रहण साल का तीसरा चंद्र ग्रहण है। इसके पहले 5 जून को भी इसी तरह का चंद्र ग्रहण लगा था। यह उपच्छाया चंद्र ग्रहण होने से इसका सूतक काल नहीं मान्य होगा। ग्रह भारत में नहीं देखा जा सकेगा। भारतीय समय के अनुसार ग्रहण सुब 8 बजकर 38 मिनट से आरंभ हो जाएगा और 2 घंटे 25 मिनट तक रहने के बाद करीब 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म हो जाएगा। ग्रहण अमेरिका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा।
 

लाइव अपडेट

ग्रहण के समय करना चाहिए मंत्रों का जाप

जब-जब ग्रहण लगता है तब उस दौरान मंत्रों का जाप लगातार करना चाहिए। अब से कुछ ही मिनटों के बाद साल का तीसरा चंद्र ग्रहण लगने वाला है। हालांकि यह चंद्र ग्रहण भारत में प्रभावी नहीं रहेगा इसलिए सूतक मान्य नहीं होगा। ग्रहण के दौरान ऊं नमो भगवते वासुदेवाय का जाप करना शुभ होता है।
 

इतने समय तक रहेगा ग्रहण

बस अब से थोड़ी ही देर के बाद साल का तीसरा चंद्र ग्रहण लगने वाला है। यह एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा। ग्रहण भारतीय समय के अनुसार आज सुबह 8 बजकर 38 मिनट से आरंभ हो जाएगा और 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म हो जाएगा। ग्रहण कुल मिलाकर लगभग 2 घंटे 45 मिनट तक रहेगा। यह ग्रहण भारत में नहीं देखा जा सकेगा।

सामान्य चंद्र ग्रहण और उपच्छाया चंद्र ग्रहण में अंतर

चंद्र ग्रहण तीन तरह का होता है। पूर्ण, आंशिक और उपच्छाया चंद्र ग्रहण। जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है तब चंद्र ग्रहण पड़ता है। इसमें चंद्रमा पूरी तरह से या फिर आंशिक रूप से ढक जाता है। इस स्थिति में पूर्ण और आंशिक चंद्र ग्रहण की घटना घटित  होती है। वहीं उपच्छाया चंद्र ग्रहण में सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीध लाइन में न होकर कुछ ऐसी स्थिति में होती है कि चंद्रमा के एक हिस्से में पृथ्वी की मलिन सी छाया पड़ती है। इसे ही उपच्छाया चंद्र ग्रहण कहते हैं।

कुछ ही देर बाद लगने वाला चंद्र ग्रहण

आज गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण भी है। 5 जुलाई की सुबह लगने वाला यह चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण है। ज्योतिष के अनुसार यह ग्रहण धनु राशि में पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र और शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर लग रहा है। लगातार तीन सालों में ऐसा संयोग है जब चंद्र ग्रहण और गुरु पूर्णिमा एक साथ है। अब ऐसा संयोग साल 2034 में बनेगा।

30 दिनों में यह तीसरा ग्रहण

ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि एक महीने के अंतराल में तीन ग्रहण का होना शुभ संकेत नहीं है। आज 30 दिनों के भीतर ही तीसरा ग्रहण लग रहा है। ऐसे में इस ग्रहण का बुरा प्रभाव देखने को मिल सकता है। 

ग्रहण के दौरान सावधानियां

ग्रहण के दौरान कुछ विशेष तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए। ग्रहण के दौरान और सूतक काल लगने पर किसी भी तरह का शुभ कार्य नहीं किया जाता है। ग्रहण के दौरान सभी तरह के खाने की चीजों में तुलसी के पत्ते डालने चाहिए। ग्रहण के दौरान मंदिर के दरवाजे और पर्दे बंद कर दिए जाते है। इस दौरान भगवान की मूर्तियों को नहीं छूना चाहिए। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष ध्यान देना चाहिए। चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा से संबंधित मंत्रों का जाप करना चाहिए।

पौने तीन घंटे तक रहेगा चंद्र ग्रहण

अब से कुछ ही देर के बाद लगने वाला चंद्र ग्रहण पौने तीन घंटे तक रहेगा। चंद्र ग्रहण सुबह 8 बजकर 38 मिनट से आरंभ हो जाएगा और 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म हो जाएगा। इसके बाद साल का चौथा और आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को लगेगा।

चंद्र ग्रहण के शुरू होने में अब कुछ ही पल बाकी

अब से थोड़ी ही देर के बाद ग्रहण आरंभ होने जा रहा है। हालांकि यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा लेकिन अमेरिका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा। भारतीय समय के अनुसार 8 बजकर 38 मिनट से ग्रहण आरंभ हो जाएगा।

इस चंद्र ग्रहण का राशियों पर प्रभाव

ज्योतिष शास्त्र में जब भी ग्रहण पड़ता है तब इसका शुभ और अशुभ दोनों प्रभाव सभी राशियों के जातकों पर पड़ता है। ऐसे में ग्रहण के दौरान मंत्रों का लगातार जाप करना चाहिए और भगवान के नाम का उच्चारण बार-बार करना शुभ रहता है।
 

इस चंद्र ग्रहण में सूतक का प्रभाव नहीं है

ग्रहण होने से कुछ घंटों पहले सूतक काल आरंभ हो जाता है। हालांकि यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इस कारण से यहां सूतक काल मान्य नहीं होगा। चंद्र ग्रहण  से पहले 9 घंटे पहले और सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले सूतक शुरू हो जाता है।

ग्रहण का ज्योतिषी कनेक्शन

ज्योतिष शास्त्र में ग्रहण का विशेष महत्व होता है। आज लगने वाला चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा के दिन लग रहा है। यह संयोग लगातार तीसरे साल बन रहा है जिसमें गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लग रहा है।ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहण धनु राशि में और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में होगा। ग्रहण का साया धनु राशि में होने से इस राशि के जातकों पर कुछ प्रभाव देखने को मिल सकता है।
 

आज कितने बजे से शुरू होगा चंद्र ग्रहण

आज साल का तीसरा और 30 दिनों के अंदर में यह तीसरा ग्रहण है। यह चंद्र ग्रहण एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण है। जिसमें चांद की परत पर थोड़ी से धूल उड़ती हुई दिखाई देगा। हालांकि यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। चंद्र ग्रहण अमेरिका,यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा। चंद्र ग्रहण भारतीय समय के अनुसार आज सुबह 8 बजकर 38 मिनट से आरंभ होगा और 2 घंटे 25 मिनट तक रहने के बाद करीब 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म हो जाएगा। 9 बजकर 59 मिनट ग्रहण का चरम पर रहेगा।

उपच्छाया चंद्र ग्रहण

यह ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा। जिसमें चांद का कोई भी हिस्सा ढका हुआ नहीं दिखाई देगा। चांद के सिर्फ एक थोड़े से भाग में पृथ्वी की छाया पड़ेगी। इस कारण से चांद पर एक समय के लिए कुछ धूमिल छाया दिखाई देगा। उपच्छाया चंद्र ग्रहण में सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीधी लाइन में न होकर कुछ इस तरह का कोण बनती है कि पृथ्वी की हल्की से छाया चंद्रमा पर पड़ती है। इस प्रकिया में चंद्रमा का कुछ हिस्सा धूमिल सा दिखाई देने लगता है।

Chandra Grahan 2020 Live Updates: थोड़ी ही देर बाद शुरू होगा चंद्र ग्रहण, जानिए कैसे, कब और कहां दिखाई देगा यह ग्रहण

साल 2020 का तीसरा चंद्र ग्रहण आज
आज यानी, रविवार 5 जुलाई 2020 को साल का तीसरा चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। यह चंद्र ग्रहण 30 दिनों के अंतराल में तीसरा चंद्र ग्रहण है। इससे पहले 5 जून को चंद्र ग्रहण और 21 जून को सूर्य ग्रहण लगा था। यह चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा। जिसे अमेरिका, युरोप, ऑस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा, लेकिन यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। भारतीय समय के अनुसार यह उपच्छाया चंद्र ग्रहण 5 जुलाई की सुबह 8 बजकर 38 मिनट से शुरू हो जाएगा और 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म हो जाएगा। सुबह करीब 9 बजकर 59 मिनट पर ग्रहण चरम पर रहेगा। 

Football news:

जिनेदीन जिदाने: रियल मैड्रिड वे क्या किया पर गर्व होना चाहिए. इस बहाने बनाने के लिए समय नहीं है । ^. रियल मैड्रिड के प्रबंधक जिनेदीन जिदाने चैंपियंस लीग के 1/8 फाइनल के दूसरे चरण में मैनचेस्टर सिटी को हार पर टिप्पणी की ।
गार्डियोला पर 2:1 रियल मैड्रिड के साथ: आप चैंपियंस लीग लेने के लिए चाहते हैं, तो आप बड़े क्लबों को हरा करने की जरूरत है । ^. मैनचेस्टर सिटी के प्रबंधक पीईपी गार्डियोला।^. हम मौके का एक बहुत बनाया और रियल मैड्रिड द्वारा दो गलतियों के बाद रन बनाए । हम आगे और हमले जाने के लिए खिलाड़ियों को समझाने की कोशिश की, लेकिन यह इस तरह से एक टीम के खिलाफ आसान नहीं है । हम कोशिश करने के लिए उन पर दबाव डाला, कभी कभी यह काम करता है, कभी कभी यह नहीं करता है । कुल मिलाकर, हम एक अच्छा काम किया है आज
राहेम स्टर्लिंग: मैन सिटी महान थे । हम रियल मैड्रिड थे कितना अच्छा पता था
रोनाल्डो चैंपियंस लीग 💪के अंतिम सत्र के प्लेऑफ्स में जुवेंटस के लिए सभी 7 गोल किए । ^. जुवेंटस पिछले दो सत्रों में चैंपियंस लीग के प्लेऑफ में सात गोल की कुल रन बनाए हैं ।
रॉड्रिगो वरान की गलतियों के बारे में: कभी कभी ऐसा होता है. यह शर्म की बात है, लेकिन वह एक महान खिलाड़ी है
रोनाल्डो के साथ सुराही सेरी ए और जनवरी में सुपर कप के लिए छोड़कर, दोनों मौसमों में सभी टूर्नामेंट खो दिया 2019
गार्डियोला एक कोच के रूप में 11 वीं बार के लिए रियल मैड्रिड हराया । इक्कीसवीं सदी में किसी से भी ज्यादा