नई दिल्ली,एजेंसी। देश के कई हिस्सों में भारी बारिश के बाद आई बाढ़ के तांडव अभी भी जारी है। बिहार और असम में बाढ़ से पिछले 24 घंटों में 33 लोगों की मौत हो गई है। बिहार में 12 और अलम में 11 लोगों की मौत हो गई है। खबरों के मुताबिक, बिहार में अब तक 92 लोगों की मौत हो गई। इसी बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने राज्य के बाढ़ पीड़ित परिवारों के लिए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम का ऐलान किया है। इसके तहत उन्हें आर्थिक मदद दी जाएगी। राज्य सरकार हर पीड़ित परिवार को 6 हजार रुपये देगी जो सीधा उनके खाते में भेजे जाएंगे। 

बिहार में आई बाढ़ से 12 जिलों की करीब 67 लाख आबादी प्रभावित हुई है। सीतामढ़ी जिले में सबसे बुरे हालात हैं। गुरुवार को इस जिले में अकेले 27 लोगों की मौत हुई थी। 

असम में भी हालात खराब
असम में भी बाढ़ से हालत बहुत खराब हैय़ 33 जिलों में से 27 जिले बाढ़ का प्रकोप झेल रहे हैं।  1.79 लाख हेक्टेयर कृषि भूमि डूब गई है। लोअर असम के बाढ़ प्रभावित इलाकों में सेना के जवान 11 जून 2019 से ही राहत कार्य चला रहे हैं। पिछले 6 दिवों में सेना ने 488 लोगों की जान बचाई है। असम स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (ASDMA) ने जो आंकड़े जारी किए हैं। उनके मुताबिक, सूबे में बाढ़ से 3,705 गांवों की 48,87,443 आबादी प्रभावित है। राज्य में मरने वालों की संख्या 47 हो गई है।  इंसान ही नहीं यहां जानवरों का भी बुरा हाल है। 

प्रधानमंत्री शुक्रवार को असम के 10 बीजेपी सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात कर उन्हें बाढ़ के हालात की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने अनुरोध किया की इस संकट से निपटने के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें राज्य की हरसंभव मदद का भरोसा दिया है।

Posted By: Ayushi Tyagi