नई दिल्ली (पीटीआइ)। रिजर्व बैंक ने गुरुवार को कहा कि खुदरा कारोबारियों के लिए विदेशी मुद्रा व्यापार मंच (एफएक्स-रिटेल) क्लियरिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (सीसीआईएल) की ओर से 05 अगस्त से शुरू हो जाएगा।

आरबीआई ने कहा कि खुदरा ग्राहकों के लिए अतिरिक्त सुविधा के रूप में लेन-देन प्रति दिन 50,000 डॉलर से अधिक नहीं होने पर ग्राहकों के लेनदेन पर सीसीआईएल द्वारा कोई लेनदेन शुल्क नहीं लगाया जाएगा। एफएक्स-रिटेल प्लेटफॉर्म को बैंक का कोई भी ग्राहक (वेबसाइट https://www.fxretail.co.in के माध्यम से) एक्सेस कर सकता है। इसके अलावा, एक दिन के दौरान प्रति ग्राहक लेनदेन की संख्या पर कोई कैप नहीं है। हालांकि, एक ग्राहक के लेनदेन की कुल राशि उसके बैंक की ओर से तय सीमा के अधीन होगी।

`

इसके अलावा, एकल लेनदेन पर 5 मिलियन अमरीकी डॉलर से अधिक की अनुमति नहीं है। आरबीआई ने कहा है कि प्रति दिन 50,000 यूएसडी से अधिक के लेनदेन के लिए CCIL द्वारा 0.0004 फीसद का लेनदेन शुल्क लिया जाएगा।

विदेशी मुद्रा बाजार में खुदरा उपयोगकर्ताओं (व्यक्तियों और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों) के लिए 'पारदर्शी और उचित मूल्य निर्धारण' का मुद्दा विभिन्न मंचों और सार्वजनिक बातचीत में उठाया गया है। आरबीआई ने कहा कि इस तरह के तंत्र से प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और खुदरा ग्राहकों के लिए बेहतर मूल्य निर्धारण होगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh