India

Hanuman Garhi Temple Ayodhya : हनुमानगढ़ी में सुल्तान ने झुकाया जब सिर तो हुआ चमत्कार

यह कोई सामान्य घटना नहीं थी सुल्तान के लिए तो यह हनुमानगढ़ी के हनुमानजी का ही चमत्कार था। तब सुल्तान ने खुश होकर अपनी आस्था और श्रद्धा को मूर्तरूप दिया- हनुमानगढ़ और इमली वन के माध्यम से। उसने इस जीर्ण-शीर्ण मंदिर को विराट रूप देने के लिए 52 बीघा भूमि हनुमानगढ़ी और इमली वन के लिए उपलब्ध करवाई। 300 साल पूर्व संत अभयारामदास के सहयोग और निर्देशन में यहां पर हनुमान मंदिर का विशाल निर्माण संपन्न हुआ। संत अभयारामदास निर्वाणी अखाड़ा के शिष्य थे।

वर्तमान हनुमानगढ़ी को अवध के नवाब शुजाउद्दौला ने बनवाया था। इसके पहले वहां हनुमानजी की एक छोटी सी मूर्ति को टीले पर पेड़ के नीचे लोग पूजते थे। बाबा अभयराम ने नवाब शुजाउद्दौला (1739-1754) के शहजादे की जान बचाई थी। जब वैद्य और हकीम ने हाथ टेक दिए थे तब कहते हैं कि नावाब के मंत्रियों ने अभयरामदास से मिन्नत की थी कि एक बार आकर नवाब के पुत्र को देख लें। अभयराम ने कुछ मंत्र पढ़कर हनुमानजी के चरणामृत का जल छिड़का था जिसके चलते उनके पुत्र की जान बच गई थी। जय श्रीराम।

Football news:

सेमेडु 40 लाख यूरो के लिए
Showsport: Tiago कर देगा लिवरपूल अधिक चर और पतले. बायर्न नुकसान महसूस होगा, लेकिन केवल शीर्ष मैचों
जोस (इसकी वजह यह संघर्ष की, लगता है) भी आवेदन में डीएलई आलि शामिल हैं, लेकिन अब तक विजेता बने नहीं था-बेटा केन की सहायता
Negredo रन बनाए पहली लक्ष्य के लिए Cadiz. उन्होंने कहा कि ला लिगा में 113 हे लक्ष्यों
जोस मुरिन्हो: केन खेल को मार डाला। टोटेनहम 2 छमाही में भी अच्छे थे
ब्रेथवाईट बार्का प्रशिक्षण में एक क्वाड्रिसेप्स चोट का सामना करना पड़ा
केन साउथेम्प्टन के खिलाफ मैच में 5 (1+4) अंक अर्जित किये