This article was added by the user Anna. TheWorldNews is not responsible for the content of the platform.

हेमा मालिनी का जन्मदिन:धर्मेंद्र के पिता को पसंद थीं हेमा और उनका परिवार, धर्मेंद्र की मां ने शादी के बाद दिया था दोनों को आशीर्वाद

9 मिनट पहले

हेमा मालिनी 73 साल की हो गई हैं। वे 16 अक्टूबर 1948 अम्मंकुदी तमिलनाडु में पैदा हुई थीं। धर्मेंद्र के साथ उनकी लव स्टोरी के किस्से आज भी मशहूर हैं। धर्मेंद्र-हेमा की पहली मुलाकात ख्वाजा अहमद अब्बास की फिल्म 'आसमान महल' के प्रीमियर के दौरान वर्ष 1965 में हुई थी। तब तक धर्मेंद्र फिल्म इंडस्ट्री में सुपर स्टार के तौर पर स्थापित हो चुके थे और हेमा एक ही फिल्म में अभिनय कर पाई थीं, जो फ्लॉप रही थी। लेकिन धीरे-धीरे दोनों एक दूसरे के प्रति आकर्षित होने लगे। हालांकि उनका प्यार परवान चढ़ा फिल्म 'शोले' की शूटिंग के दौरान और 1980 में दोनों ने शादी कर ली।

एक डांस पर हुईं फिदा

एक रियलटी शो में शरीक हुईं हेमा ने एक सवाल के जवाब में बताया था, "जब नासिक में फिल्म प्रतिज्ञा की शूटिंग चल रही थी, तब धर्मेंद्र को मैंने 'मैं जट यमला पहला दीवाना' गाने पर डांस करते देखा, उनका वह डांस देख मैं उन पर पूरी तरह से फिदा हो गई थी। "

परिवार खुश नहीं था

हेमा का दक्षिण भारतीय परिवार इस प्यार से बिल्कुल खुश नहीं था। एक तो धर्मेंद्र पंजाबी थे दूसरा वह पहले से ही शादीशुदा थे। इस वजह से उन्हें हेमा से चोरी छिपे मिलना पड़ता था। कई बार हेमा के परिवार से कोई न कोई शूटिंग सेट पर भी आ जाता, इसलिए मिलना और मुश्किल हो जाता था। वे दोनों शूटिंग के बाद बाहर भी नहीं मिल पाते थे।

रोमांस के लिए कैमरामैन का सहारा

धर्मेंद्र और हेमा एक तरह के पहरे के बीच शूटिंग करते थे। धर्मेंद्र ने इसका एक नया तोड़ निकाला। जिन-जिन फिल्मों में वह हेमा मालिनी के साथ शूट कर रहे होते उन फिल्मों के कैमरामैन को पटा लेते। हेमा के साथ रोमांटिक सीन के रीटेक बार-बार हों, इसके लिए वह कैमरामैन से कह देते कि शॉट को एक बार में ओके नहीं करना। कभी कैमरामैन लाइट कम होने की बात करता तो कभी कोई और वजह बता देता। धर्मेंद्र ने इसका भी एक कोड वर्ड बनाया था। जब सीन को रीटेक कराना होता तो वह हौले से अपना कान छू लेते। इसी तरह जब उन्हें सीन को ओके करना होता वह अपनी नाक को सहलाते। इस तरह वह हेमा के साथ लंबा वक्त बिता पाते थे।

हेमा के भाई के घर से हुई थी उनकी और धर्मेंद्र की शादी

हेमा की शादी उनके भाई के घर से हुई थी। यह तमिल वेडिंग थी। कहा जाता है कि धर्मेंद्र और हेमा दोनों ही इसी तरह से शादी करना चाहते थे। 'हेमा मालिनी: बेयॉन्ड द ड्रीम गर्ल' के मुताबिक, धर्मेंद्र के पिता केवल कृष्ण सिंह देओल, हेमा और उनकी फैमिली को बहुत पसंद करते थे।

हेमा ने बुक में बताया है- केवल कृष्ण सिंह देओल अक्सर चाय पर पिता और भाई से मिला करते थे। इस दौरान वे पंजे भी लड़ाया करते थे और उन्हें (हेमा के पिता और भाई को) हराने के बाद मजाक करते हुए कहते थे, तुम लोग घी मक्खन लस्सी खाओ। इडली और सांभर से ताकत नहीं आती। इसके बाद वे खूब हंसते थे।

धर्मेंद्र की मां ने दिया था खुश रहने का आशीर्वाद

हेमा की बुक में धर्मेंद्र की मां सतवंत कौर के साथ उनके रिश्ते का जिक्र भी किया गया है। हेमा के मुताबिक- धरम जी की मां सतवंत कौर बहुत ही अच्छी महिला थीं। मुझे याद है कि एक बार वे मुझसे मिलने जुहू के एक डबिंग स्टूडियो में आई थीं। उस वक्त मैंने ईशा को कंसीव किया था। उन्होंने घर में किसी को नहीं बताया था। मैंने उनके पैर छुए और उन्होंने कहा- बेटा खुश रहो हमेशा। मुझे यह देखकर बहुत खुशी हुई थी।

हेमा ने कहा था- मैं प्रकाश का बहुत सम्मान करती हूं

हेमा ने एक इंटरव्यू में कहा था- भले ही मैं कभी प्रकाश (धर्मेंद्र की पहली पत्नी) के बारे में बात नहीं करती, लेकिन मैं उनका बहुत सम्मान करती हूं। मेरी बेटियां भी धरम जी की फैमिली का पूरा सम्मान करती हैं। दुनिया मेरी लाइफ के बारे में विस्तार से जानना चाहती है। लेकिन यह दूसरों को बताने के लिए नहीं है। इससे किसी को मतलब नहीं होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...