This article was added by the user . TheWorldNews is not responsible for the content of the platform.

Omicron की दहशत, कई देशों ने यात्रा पर लगाई पाबंदियां

हांगकांग। कोरोनावायरस (Coronavirus) के चिंताजनक नए स्वरूप ओमिक्रॉन (Omicron) को नियंत्रित करने के लिए दुनियाभर में यात्रा पाबंदियों को कड़ा किया जा रहा है। ऑस्ट्रेलियाई अधिकारी रविवार को दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों की और कड़ी निगरानी में जांच करते दिखे ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं वे अपने साथ ओमिक्रॉन संक्रमण तो नहीं ला रहे।
ऑस्ट्रेलिया के पड़ोसी देश न्यूजीलैंड ने नए स्वरूप से पैदा हुए खतरे के चलते नौ दक्षिण अफ्रीकी देशों से यात्रियों के आने पर पाबंदी लगाने की घोषणा की है, जबकि जापान ने भी पाबंदियां कड़ी करने का ऐलान किया है। पर्यटन पर निर्भर देश थाईलैंड ने अफ्रीका के आठ देशों से यात्रियों की आमद पर पाबंदी लगा दी है। थाईलैंड ने अपनी कड़ी सीमा पाबंदियों में हाल में ढील देनी शुरू की थी, ताकि विभिन्न देशों से लोग पर्यटन के लिए आ सकें।

व्यापारिक केंद्र माने जाने वाले सिंगापुर में भी ऐसी ही पाबंदियां लागू की गई हैं। सिंगापुर ने हाल में दक्षिणी अफ्रीका के सात देशों की यात्रा करने वालों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। ओमिक्रॉन स्वरूप के प्रसार की रोकथाम के लिए दुनिया के अन्य क्षेत्रों में लगाई जा रहीं पाबंदियों का प्रभाव एशिया-प्रशांत क्षेत्र में भी देखने को मिल रहा है।

कुछ दिन पहले दक्षिण अफ्रीका में अनुसंधानकर्ताओं ने ओमिक्रॉन स्वरूप की पहचान की थी। इस स्वरूप को बेहद संक्रामक माना जा रहा है। हालांकि अभी इस स्वरूप के बारे में काफी कुछ पता लगाया जाना बाकी है, लेकिन अनुसंधानकर्ता इस बात को लेकर चिंतित हैं कि यह टीकों द्वारा प्रदान की जाने वाली सुरक्षा का काफी मजबूती से सामना कर सकता है। इसका मतलब यह हो सकता है कि महामारी अपेक्षा से अधिक समय तक बरकरार रख सकती है।

कई महाद्वीपों में ओमिक्रॉन स्वरूप से संक्रमित होने के मामलों की पुष्टि पहले ही हो चुकी है। जर्मनी, इटली, बेल्जियम, इसराइल और हांगकांग में भी इसके मामले सामने आए हैं। अमेरिका के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ एंथनी फाउची ने कहा कि इसमें हैरान होने की कोई बात नहीं है कि अमेरिका में भी ओमिक्रॉन स्वरूप पहले से ही मौजूद था।

फाउची ने एनबीसी टेलीविजन से कहा, हमें अभी इसके मामले सामने आने की जानकारी नहीं मिली है, लेकिन इस तरह के वायरस का संक्रमण हर जगह फैलने की आशंका बनी रहती है।

ऑस्ट्रेलिया में 2 यात्री ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए : ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने रविवार को पुष्टि की कि सिडनी पहुंचे दो विदेशी यात्री कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप से संक्रमित पाए गए हैं। ये दो यात्री 14 अन्य लोगों के उस समूह का हिस्सा हैं जो शनिवार को दक्षिणी अफ्रीका से ऑस्ट्रेलिया पहुंचा। उनमें बीमारी के लक्षण नहीं थे और दोनों ने कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 रोधी टीके की खुराक ले रखी है बाकी के 12 लोगों को पृथक रखा गया है।

न्यू साउथ वेल्स में स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि संक्रमित यात्री उन नौ अफ्रीकी देशों में से एक से आए हैं जहां से सिडनी में आने पर एक होटल में पृथक वास करने की आवश्यकता है। ये देश दक्षिण अफ्रीका, लेसोथो, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, मोजाम्बिक, नामीबिया, इस्वातिनी, मलावी और सेशेल्स हैं।(भाषा)