India

श्वेता तिवारी पर उनके कर्मचारी ने लगाया धोखाधड़ी का आरोप, बोले- '2 साल से मेरे 52 हजार रुपए नहीं लौटा रहीं'

किरण जैनएक घंटा पहले

पॉपुलर टेलीविजन एक्ट्रेस श्वेता तिवारी पर उनके एक कर्मचारी ने धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। अभिनेत्री के एक्टिंग स्कूल में बतौर टीचर काम कर चुके राजेश पाण्डेय का कहना है कि श्वेता उनके तकरीबन 52 हजार रुपए नहीं लौटा रही हैं। पिछले दो साल से वे अपने पैसे के लिए श्वेता से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं हालांकि वे उसका जवाब नहीं दे रही हैं।

श्वेता की एक्टिंग स्कूल में टीजर थे राजेश पाण्डेय

दैनिक भास्कर से बातचीत के दौरान, राजेश बताते हैं, "मैं पिछले पांच सालों से श्वेता तिवारी की एक्टिंग स्कूल में एक्टिंग सिखाता था। साल 2012 से उनकी एकेडमी से जुड़ा था जहां तकरीबन 10-15 बच्चों को नियमित तौर से एक्टिंग सीखते थे। दुर्भाग्यवश दो साल पहले श्वेता को अपनी एक्टिंग स्कूल बंद करनी पड़ी क्योंकि वहां बच्चे नहीं आते थे। हांलाकि उन्होंने मुझे आश्वासन दिया था कि वे मेरे पैसे देंगी। आज दो साल हो गए हैं, ना ही उन्होंने मेरी बची सैलरी दी और ना ही इनकम टैक्स के नाम पर काटे हुए पैसे दे रही हैं।"

राजेश आगे बताते हैं, "आज जब कोरोना में सब लोग एक दूसरे की मदद को आगे आ रहे हैं इसके उलट श्वेता तिवारी जी मेरे पैसे जिनमें एक महीने की सैलरी 40000 है वापस नहीं दे रही हैं। हद तो यह भी है जो उन्होंने सैलरी का 10%टैक्स के नाम पर काटा कि वे उसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में जमा करेंगी वो भी जमा नहीं करवाया जो लगभग 12000 का है। इधर 6-7 महीनों से सारे स्कूल बंद हैं। मैं आर्थिक रूप से बिलकुल खाली हो गया हूं"।

"मैंने श्वेता को इस बीच कई बार कहा कि प्लीज मेरे पैसे दे दीजिए लेकिन न तो वो कुछ रिप्लाई करती हैं न ही मेरा फोन उठाती हैं। उन्होंने कई बार मुझे ब्लॉक भी कर दिया। अभी मैं अपने घर का रेंट भी नहीं दे पा रहा हूं।"

पैसे वापस मांगने पर श्वेता तिवारी ने कर दिया ब्लॉक।

पैसे वापस मांगने पर श्वेता तिवारी ने कर दिया ब्लॉक।

राजेश उम्मीद करते हैं कि श्वेता की ये बात लोगों तक पहुंचने के बाद, वे उनका पैसा लौटा देंगी। वे कहते हैं, "वो एक स्त्री हैं उनका सम्मान भी करता हूं लेकिन उनका ये रवैया माफी के लायक नहीं है। ऐसे समय में जब पैसे किसी के पास नहीं हैं, मैं कहां जाऊं और किससे मदद मांगू"।

"कितने लोगों के लिए श्वेता तिवारी एक प्रेरणा हैं। लोग उन्हें पसंद करते हैं लेकिन उनका दूसरा चरित्र वो है जिसे मैं देख रहा हूं। खुद की हालत पर शर्मिंदा हूं। मेरे पास अब इतने पैसे हैं कि मैं 3-4 दिन खाना खा सकता हूं। उम्मीद करता हूं मेरी ये गुहार देखकर वो मेरे पैसे लौटा दें।" दैनिक भास्कर ने इस मामले पर श्वेता तिवारी की प्रतिक्रिया लेने के लिए उनसे संपर्क किया, हालांकि वे अनुपस्थित रही।

Football news:

19 वर्षीय मिडफील्डर सेविक्यान ला लीगा में लेवंटे के लिए अपने कैरियर की शुरुआत की. वे 19 वर्षीय रूसी आर्मेनियाई मूल के खिलाड़ी, लोकमोटिव के शिष्य
बार्का निदेशक अमोर: मेस्सी क्लब के लिए एक बहुत कुछ दिया है, और क्लब लियो के लिए एक बहुत कुछ दिया है । मुझे लगता है वह यहाँ अपने कैरियर खत्म आशा
डी इ एल इ Ayenugba: वे विश्वास नहीं था अफ्रीकी गोलकीपर यूरोप में है, लेकिन अब एक सेनेगल में खेल रहा है चेल्सी, और कैमरून में खेल रहा है Ajax
बवेरिया मिडफील्डर देखा गया है, इंटर अगुमा. उन्होंने कहा कि बायर्न में रुचि रखते हैं सबसे अच्छा जन्म 2002
डेविस मैच बायर्न में खेल सकते हैं-लोकोमोटिव, किम्मिच-नए साल की शुरुआत में
बार्सिलोना बार्सिलोना के लिए दस्ते को मजबूत करने के लिए विकल्पों में से एक के रूप में सेवा कर सकते हैं मुक्त
न्यूकैसल प्रशंसकों के नस्लवाद पर हीस्लोप: 50 गज की दूरी पर से वे मेरा नाम गाया 50 फुट से, मुझे अपमान